NavBharat Samay

भारत की फार्मा कंपनी Zydus Cadila ने सस्ती कीमत पर कोरोना ड्रग लॉन्च किया

रेमडेसिविर को अमेरिका की कंपनी ने बनाया- अमेरिका में स्थित गिलिएड साइंसेज़ ने मूल रूप से इबोला के इलाज़ के लिए रेमडेसिविर बनाया था. अब इसने भारत की सिप्ला, जुबिलिएंट लाइफ़, हिटेरो ड्रग्स और माइलॉन को भारत में ये दवा बनाने की अनुमति दे दी है. फार्मा कंपनी जायडस कैडिला (Zydus Cadila) ने गिलियड साइंसेज की एंटीवायरल ड्रग रेमडेसिवीर (Remdesivir) का सबसे सस्ता जेनेरिक संस्करण लॉन्च किया.

 न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक, Zydus ने इसकी कीमत 2,800 रुपये ($37.44) प्रति 100mg शीशी रखी है. आपको बता दें कि दुनिया के कई देशों के अस्पतालों में क्लीनिकल ट्रायल के दौरान ये तथ्य सामने आए थे कि रेमडेसिविर कोरोना के लक्षण की अवधि को 15 दिनों से घटाकर 11 दिन कर सकता है. इस कारण भी रेमडेसिविर की मांग बढ़ गई है. हालांकि विशेषज्ञों ने चेतावनी दी है कि ये कोई प्रभावी उपचार नहीं है. लेकिन किसी भी दवा की ग़ैर मौजूदगी में डॉक्टर्स भारत में कोरोना के मरीज़ों के लिए ये दवा लिख रहे हैं. इस कारण दिल्ली और भारत के अन्य शहरों में इसकी मांग बढ़ गई है.

फार्मा कंपनी जायडस कैडिला (Zydus Cadila) ने अपनी संभावित कोविड-19 वैक्सीन ZyCoV-D का इंसानों पर ट्रायल शुरू कर दिया है. कंपनी ने एक नियामकीय जानकारी में बताया कि पहले चरण में वह देश के विभिन्न हिस्सों में 1000 लोगों को इसके लिए इनरॉल करेगी. कंपनी ने कहा कि ZyCoV-D का एडेप्टिव फेज I/II ह्यूमन क्लिनिकल ट्रायल पहली इंसानी डोज के साथ शुरू हो चुका है. इस मल्टी सेंट्रिक स्टडी में वैक्सीन की सेफ्टी, टॉलेरेबिलिटी (सहनशीलता) और इम्यूनोजेनिसिटी (प्रतिरक्षाजनकता) का आकलन किया जाएगा.

Read More

Related posts

देशमे पिछले 24 घंटों में कोरोना के 57117 नए मामले , संक्रमितों का आंकड़ा 1.7 लाख के करीब पहुंच गया

samayteam

नेपाल को पाकिस्तान नहीं बनने देंगे… पीएम ओली से इस्तीफा लेने पर अड़ा

samayteam

केरल विमान दुर्घटना में पीड़ित परिवार को 10 लाख रुपये मुआवजा मिलेगा

samayteam